बिहार बोर्ड 12वीं परीक्षा इंटरमीडिएट 2019 का तैयारी घर से करें या बाहर से

By | May 19, 2018

नमस्कार! आप सभी विद्यार्थियों का रिजल्ट फोर डॉट इन वेबसाइट पर हार्दिक अभिनंदन है| हम इस पेज के माध्यम से कुछ विद्यार्थियों के साथ साझा करना चाहते हैं, वह यह है कि क्या विद्यार्थियों को 12 वीं बोर्ड की परीक्षा की तैयारी घर पर रहकर ही करना चाहिए या फिर बाहर से करना चाहिए | बाहर से क्या तात्पर्य है कोई हॉस्टल में रहकर या फिर कहीं अलग घर से दूर कमरा लेकर पढ़ाई करना चाहिए |  विद्यार्थियों के विचार जानना चाहते हैं| जैसा कि आप सभी जानते हैं कि दिन पर दिन प्रतियोगिता परीक्षाओं में करी प्रतियोगिता होती जा रही है|

सही ढंग से पढ़ाई 

यह कारण है कि अधिक- अधिक विद्यार्थी अच्छा परफॉर्मेंस नहीं कर पाते हैं| इसका कारण यह होता है कि वह सही ढंग से पढ़ाई नहीं कर पाते हैं| तो इसका मतलब कि क्या विद्यार्थी घर पर रहकर अच्छी पढ़ाई कर सकते हैं या नहीं| घर पर पढ़ाई करने के क्या फायदे हैं और बाहर रहकर पढ़ाई क्या फायदे हैं | 

बिहार बोर्ड से रजिस्ट्रेशन

सबसे पहले बात करते हैं उन विद्यार्थियों का जो विद्यार्थी बिहार बोर्ड से अपना रजिस्ट्रेशन करवाते हैं, और 12वीं का परीक्षा देते हैं | सबसे पहले उनको तो इस बात का मालूम होना अनिवार्य है, कि बिहार बोर्ड ने परीक्षा का पैटर्न बदल दिया है और नए पैटर्न के हिसाब से आधे प्रश्न वैकल्पिक आएंगे |

दूसरी बात यह है कि विद्यार्थी जो घर से पढ़ाई करते हैं, जो बिहार बोर्ड से पढ़ाई करते हैं उनका भी तो सिर्फ कॉलेज या महाविद्यालय में सिर्फ अपना नाम लिखवा लेते हैं और वह  करते हैं|

READ  Should Social Networking Sites ban in India? Reason & Cause

घर से रह कर या फिर कहीं हॉस्टल या कहीं बाहर कमरे लेकर पढ़ाई करते हैं |लोगों को घर पर रहकर पढ़ाई करना चाहिए या नहीं जो विद्यार्थी घर पर पढ़ाई करना चाहते हैं| तो उन सभी विद्यार्थियों को तो अपने विद्यालय/ महाविद्यालय में जाना अनिवार्य होगा| ताकि वह सही ढंग से समय दे पाए अपने पढ़ाई के लिए

सिर्फ ध्यान पढ़ाई पर 

अगर विद्यार्थी घर से बाहर रहकर पढ़ाई करते हैं तो यह ज्यादा अच्छा होगा | क्योंकि उनका सिर्फ ध्यान पढ़ाई पर होगा , अगर वह ढंग से करें तो | क्योंकि बाहर रहने के बाद इधर-उधर जाने या इधर-उधर की प्रतिक्रियाओं से कोई लेना -देना नहीं होता|  इसलिए बाहर रहकर पढ़ाई करना बेहतर होता है | लेकिन कुछ कठिनाइयां भी है,

बाहर रहने के बाद विद्यार्थियों को कुछ समय उनको खुद की तैयारी मतलब कि खाना बनाने कपड़ा धोने आदि पर भी समय व्यतीत करना पड़ता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *